Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
गर्मियों का मौसम आते ही लोगों को कपड़ें जैसे कोई मुसीबत लगने लगते हैं, ऐसे वह कोशिश करते हैं कि कुछ हल्का-फुल्का सा पहना लिया जाए या फिर कुछ ऐसा जो उनकी बॉडी को ठंडा रख सके। लेकिन महिलाओं के कपड़ों को लेकर लंबे समय से दुनियाभर में बहस छिड़ी हुई है। हर कोई अपने-अपने तर्क सामने रखता है, हालांकि कौन कितना सही है इस बात का फैसला भी कैसे ही हो पाए। लेकिन हाल ही में कपड़ों को लेकर ही एक ऐसा मामला देखने को मिला है जिसने सभी को चौंका दिया है।
लेकिन एक ऐसा स्कूल है जहां पर 5 साल की बच्ची हारमनी के कपड़ों को लेकर स्कूल वालों ने ऐतराज जताया और उसे क्लास से बाहर निकाल दिया। बच्ची ने जब इस बारे में अपनी मां को बताया तो उन्होंने कुछ ऐसा कर डाला जिससे स्कूल प्रशासन को अच्छा सबक मिला। दरअसल हुआ कुछ ऐसा कि, हारमनी को स्कूल जाना था, गर्मी देखते हुए मां एमिली स्टीवार्ट ने हारमनी को जींस के साथ एक समर ड्रेस पहना दी, जो उसे उसकी दादी ने दी थी।
<iframe src="https://www.facebook.com/plugins/post.php?href=https%3A%2F%2Fwww.facebook.com%2Fofficialemilystewart%2Fposts%2F2083410348444782&width=500" width="500" height="546" style="border:none;overflow:hidden" scrolling="no" frameborder="0" allowTransparency="true" allow="encrypted-media"></iframe>
हारमनी इसे पहनकर स्कूल चली गई, लेकिन जब वह लौटी तो उसके बदले हुए कपड़े देखकर एमिली हैरान रह गईं। हारमनी ने उस समय जींस के साथ एक पिंक कलर का टॉप पहना हुआ था। इसके बाद एमिली ने बच्ची से इस बारे में पूछा तो उसने बताया कि, स्कूल में कपड़ों की वजह से उसे क्लास से बाहर निकाल दिया गया और स्कूल की नर्स के पास भेजकर शरीर ढकने के लिए कहा गया।
एमिली को बच्ची से इस तरह की बातें सुनकर स्कूल प्रशासन पर बहुत गुस्सा आया। यह घटना बच्ची के मन में सेल्सुअलिटी को लेकर अलग ही धारणा बना सकती है। इसके बाद उन्होंने स्कूल प्रशासन को जमकर फटकार लगाई। एमिली ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट लिखा कि, "एक मां होने के नाते मैं कैसे अपनी बेटी को उसके शरीर से प्यार करने की सीख दूं। क्योंकि कुछ लोग तो उसे यह बता रहे हैं कि उसको 'प्राइवेसी की जरूरत' है। एक 5 साल की बच्ची के कंधों में ऐसा क्या है? क्यों उसके कंधों का न ढका होना स्कूल में उसकी शिक्षा से पहले रखा गया?"
एमिली ने अपने पोस्ट में आगे लिखा, "उसकी ड्रेस में ऐसा अजीब था? वह सिर्फ 5 साल की है, उसे क्यों सेक्सुअलाइज्ड किया जा रहा है? मैंने जब उससे पूछा कि आपने टी-शर्ट क्यों पहनी हुई है? तो उसने कहा, 'मुझे बताया गया है कि तुम्हें प्राइवेसी की जरूरत है इसलिए तुम्हें ऐसा कुछ पहनना चाहिए।' इसके मैंने कहा कि यह सुनकर आपको कैसे महसूस हुआ? तो इस पर वह रोने लगी।" एमिली ने इसके बाद सवाल उठाया कि, "एक छोटी बच्ची को मैं कैसे बताऊं कि वह क्या पहनती है? यह उसकी शिक्षा और आत्म विकास से ज्यादा जरूरी नहीं।"
हालांकि एमिली के इस पोस्ट के बाद सोशल मीडिया पर कई माता-पिता ने आगे आकर उनका साथ और नतीजा यह निकला की स्कूल प्रशासन को अपने इस नियम को ही बदलना पड़ा। अब स्कूल वयस्कों के पास बच्चों के शरीर की उपयुक्तता का कोई अधिकार नहीं है।
'ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.