Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
मजदूरों को अक्सर लोग बेसहारा और मजबूर समझकर बदतमीजी करने लगते हैं। लेकिन आप भूल जाते हैं कि ये लोग वह हैं जिन्हें बाकी अन्य किसी भी नागरिक जितना ही सम्मान का अधिकार है। ये लोग किसी के सामने भीख मांगने के लिए हाथ फैलाने से बाहतर अपनी मेहनत का खाना पसंद करते हैं। कई बार हमें मिलने वाली हर सुख सुविधा भी कम पड़ जाती है, लेकिन वह मजदूर ही होता है जो थोड़े में भी खुश रहना जानते हैं। आज यानी 1 मई को अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया जा रहा है।
इस दिन पर लगभग सभी कंपनियां अपने कर्मचारियों को छुट्टी देती हैं। बता दें कि भारत के अलाव दुनिया के 80 देशों में इस दिन को मनाया जाता है। गौरतलब है कि जैसे-जैसे वक्त बढ़ता जा रहा है मजदूरी की परिभाषा में भी बदलाव आ रहे हैं। माना जाता था कि जो लोग पूरा दिन कड़ी मेहनत या धूम में तपकर काम कर रहे हैं वह मजदूर है, लेकिन जिस तरह से लोगों के बीच काम को लेकर कॉम्पीटिशियन बढ़ता जा रहा है।
ऐसे में आज लोग बेशक कम्प्यूटर के सामने बैठकर काम करते हैं, हालांकि इसमें उन्हें उनके हाथों के साथ दिमाग और सूझबूझ से भी काम लेना पड़ता है। वैसे कई लोगों का मानना है कि यह किसी तरह की मजदूरी नहीं है। तो आपको बता दें कि औधोगिक विवाद अधिनियम 2(एस) के तहत जो लोग वेतन के बदले किसी उद्योग में शारीरिक, कुशल, तकनीकी, कलर्क या सुपरवाइजर का भी करते हैं तो आप मजदूर की श्रेणी में आएंगे।
क्यों मनाया जाता है मजदूर दिवस
इस दिन वर्ष 1886 से 1 मई को मनाने की शुरुआत हुई। अमेरिका के कुछ मजदूर संघों ने मिलकर यह फैसला किया कि वह 8 घंटे से ज्यादा काम नहीं करेंगे। इसके लिए करीब 3 लाख मजदूर 1 मई को अमेरिका की सड़कों पर उतर आए। इसके बाद शिकागो में 4 मई 1886 को मजदूरों ने 8 घंटे काम करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।
इस दौरान शिकागो की हेय मार्केट में एक बम ब्लास्ट भी हो, इसके बाद पुलिस ने इस प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए मजदूरों पर गोलियां चलानी शुरू कर दी।, जिसमें कई लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा और 100 से भी ज्यादा मजदूर घायल हो गए। तभी से शिकागो में प्रदर्शन के दौरान मारे गए मजदूरों की याद में पहली बार 'मजदूर दिवस' मनाया गया।
'ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.