Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
पिछले दिनों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक इंटरव्यू बड़ा वायरल हो रहा है। इस इंटरव्यू में पीएम मोदी कुछ ऐसी-ऐसी बाते बोल दी थी, जो लोगों के गले से नहीं उतर रही। जैसे साल 1988 में डिजिटल कैमरे का इस्तेमाल। उनका कहना है कि साल 1987-88 में उन्होंने डिजिटल कैमरे से आडवाणी जी की कलर फोटो खींचकर ईमेल के जरिए दिल्ली भेजी थी। बस फिर क्या था मोदी के इस बयान पर लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया, कुछ लोग उन्हें झूठा बोलने लगे तो कुछ लोग ने पीएम मोदी का समान्य ज्ञान भी ठीक किया।
लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से पीएम मोदी को बताया कि पहला डिजिटल कैमरा 1990 में बिक्री के लिए सामने आया था। ये लोजिटेक फोटोमैन का ग्रे वर्ज़न था। जबकि भारत में 14 अगस्त, 1995 में इंटरनेट आया था... तो उन्होंने कैसे इंटरनेट का इस्तेमाल करके इमेल कर दिया।
सोशल मीडिया और मीडिया के साथ-साथ राजनीतिक दल और कुछ भक्तों ने तो पीएम मोदी को यहां पर भी सही साबित करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी। उदाहरण है राजीव गांधी का ये फोटो, तो बीजेपी समर्थकों ने शेयर की है।
मैं भी चौकीदार हैंडल नाम से इस फोटो को शेयर किया गया और लिखा गया, “सीनियर पप्पू 1983 में डिजीटल कैमरा उपयोग करते हुए... पर इटली के गुलाम मोदीजी पर सवाल उठा रहे हैं कि उन्होंने 1988 में कैमरा कैसे उपयोग कर लिया?”
लेकिन समर्थकों की सारी गलतफहमी अनुराग कश्यप ने दूर कर दी। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “भक्त बहुत ही नासमझ हैं... 1960 के दशक से इस्तेमाल हो रहे सुपर 8 कैमरा को डिजिटल कैमरा बताया जा रहा है...'
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en-gb"><p lang="en" dir="ltr">That’s how dumb Bhakts are.. a super 8 camera that has existed since 60’s is being referred to as digital camera.. <a href="https://t.co/uAmx1tJqir">https://t.co/uAmx1tJqir</a> <a href="https://t.co/vmXAb7YvDk">https://t.co/vmXAb7YvDk</a></p>— Anurag Kashyap (@anuragkashyap72) <a href="https://twitter.com/anuragkashyap72/status/1128179192464437249?ref_src=twsrc%5Etfw">14 May 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
अपनी बात को सिद्ध करने के लिए अनुराग कश्यप ने इस ट्वीट के साथ विकिपीडिया का लिंक भी शेयर किया।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.