Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
आम चुनाव खत्म हो गए है, 23 मई को नतीजों के साथ साफ हो जाएगा की अगले 5 सालों के लिए भारत के प्रधानमंत्री की कुर्सी पर कौन बैठेगा? कौन दिल्ली के लुटियन जोन में बने 7, लोक कल्याण मार्ग यानी प्रधानमंत्री आवास में 5 साल के लिए वास करेगा? हालांकि, नतीजे आने में अभी 1 दिन और है... नतीजों से पहले आपको हम प्रधानमंत्री आवास की कुछ दिलचस्प बातों से आपको रूबरू कराने जा रहे हैं। आपने अब-तक ‘प्रधानमंत्री आवास’ का नाम सुना होगा या फिर पीएम मोदी के एक आध इंटरव्यू में इसकी झलक देखी होगी। जैसे कि हाल ही में पीएम मोदी और अक्षय कुमार के गौर-राजनीतिक इंटरव्यू में देखने को मिली थी।
आपको जानकर हैरानी होगी कि प्रधानमंत्री आवास 12 एकड़ में फैली हुई एक विशाल जगह है, जिसके अंदर केवल 1 बंगला नहीं बल्कि 5 बंगले बने हुए हैं। जी हां, सभी बंगलो का अपना-अपना महत्व है।
इन बंगलों की संख्या है 1,3,5,7 और 9।
पीएम मोदी 5 नम्बर बंगले में रहते हैं। जबकि 7 नम्बर बंगला उनका कार्यस्थल है।
9 नम्बर बंगले में पीएम मोदी की सुरक्षा को देखने वाले SPG के लोग रहते हैं।
नम्बर-3 बंगला पीएम मोदी के गेस्ट के लिए बना है।
नम्बर-1 बंगले में पीएम के लिए हेलिपैड बनाया गया है।
सुरंग का क्या है काम?
इस बंगले में एक 2 किलोमीटर लम्बी सुरंग भी बनी है, जो सीधा सफदरजंग एयरपोर्ट तक जाती है। आपको बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ऐसे पीएम हैं, जिन्होंने इस सुरंग का इस्तेमाल किया है। सेंट्रल पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट ने साल 2010 में इस सुरंग का निर्माण करना शुरु किया था, जोकि 2014 तक बनकर तैयार हुआ। इस सुरंग को बनाने का मकसद पीएम के काफिले की वजह से सड़कों पर लगने वाले जाम को रोकना है। इस सुरंग का मकसद पीएम मोदी की सुरक्षा के साथ-साथ VIP मूवमेंच के दौरान भीड़-भाड़ से बचना भी है। आपातकाल में पीएम को निकलने के लिए ये सुरंग बेहद ही कारगार साबित होगी।
प्रधानमंत्री आवास की सुरक्षा भी है कड़ी
यहां कि सिक्योरिटी का अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि आवास के पास बने होटल सम्राट के टॉप-4 फ्लोर सरकार द्वारा खरीदे हुए हैं ताकि कोई प्रधानमंत्री आवास की नजर न गाड़ सके। पीएम आवास का पूरा इलका नो-फ्लाई जोन हैं। इसके अलावा पीएम आवास का अपना पावर स्टेशन है।
कैसे होती है यहां एंट्री-
किसी शख्स को यहां आने के लिए सबसे पहले 9, लोक कल्याण मार्ग में एंट्री लेनी पड़ती है। इसके बाद यहां से वह पार्किंग एरिया में जाता है और उसके बाद उसकी एंट्री होती है वेलकम रूम में। इन सभी चरणों में शख्स को कड़ी सिक्योरिटी से होकर गुजरना पड़ता है, वो चाहे पीएम का कोई खास ही क्यो न हो।
पंचवटी-
एक जगह है जिसको ‘पंचवटी’ कहा जाता है, यहां 2-3 कॉन्फ्रेंस रूम मौजूद हैं। इनकी दीवारों को खूबसूरत बनाने के लिए इसपर राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्राहलय से लाई गई कलाकृतियां लगाई गई हैं। इसके अलावा पीएम को अपनी यात्रा के दौरान को उपहार मिलते हैं, उन्हें भी यहां सजाया जाता है।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.