Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
21 मई भारत के इतिहास में उस काले दिन के रूप में जाना जाता है, जब देश ने अपने सबसे युवा प्रधानमंत्री को खो दिया था। जी हां, आज राजीव गांधी की पुण्यतिथि है और इस मौके पर हम राजनीति नहीं बल्कि सिनेमा के झरोखे से उनसे जुड़ी एक बेहद खास खबर लेकर आपके लिए लेकर आए हैं। खबर ये है कि आज राजीव गांधी के पत्नी के रूप में दुनिया सोनिया गांधी को जानती हैं, पर एक वक्त था जब राजीव की पत्नी और गांधी परिवार के बहु के लिए बल्कि एक बड़े फिल्मी परिवार की बेटी को इंदिरा ने चुना था।
असल में, हाल ही में पत्रकार राशिद किदवई की किताब ‘नेता अभिनेता: बॉलीवुड स्टार पॉवर इन इंडियन पॉलिटिक्स’ में, उन्होने गांधी परिवार और बॉलीवुड के सबसे मशहूर खानदान कपूर फैमिली के आपसी सम्बंधो और कई रोचक किस्सों को बयां किया है।
इसी किताब में राशिद किदवई ने लिखा है कि गांधी-नेहरू परिवार और कपूर परिवार के बीच बेहद अच्छे सम्बंध हुआ करते थे, ऐसे में इंदिरा गांधी चाहती थीं कि दोनो खानदानों के बीच का ये ताल्लुकात दोस्ती से आगे रिश्ते में तब्दील हो और इसलिए उन्होंने अपने बड़े बेटे राजीव गांधी की शादी, मशहूर फिल्ममेकर राज कपूर की बड़ी बेटी ऋतु से कराने का मन बना लिया था पर इंदिरा जी की ये ख्वाहिश पूरी नहीं हो पाई। क्योंकि कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के दौरान ही राजीव की मुलाकात सोनिया से हो चुकी था और उन दोनो एक दूसरे को भावी जीवनसाथी के रूप में चुन लिया था।
गौरतलब है कि कपूर परिवार की तरह ही गांधी परिवार का बच्चन फैमिली से भी एक समय बेहद अच्छे सम्बंध रहे हैं। खास बात ये है कि राजीव और सोनिया गांधी की शादी में बच्चन परिवार ने महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई थी। दरअसल, अमिताभ बच्चन की मां तेजी बच्चन और इंदिरा गांधी की दोस्त हुआ करती थीं और वहीं राजीव और अमिताभ भी अच्छे मित्र थे। ऐसे में जब बात सोनिया गांधी से राजीव की शादी की हुई तो इंदिरा गांधी ने जहां इस रिश्ते पर ऐतराज जताया था, वहीं उनकी दोस्त तेजी बच्चन ने आगे बढ़कर सोनिया को भारतीय रीति रिवाजो से परिचय कराने की कवायद की।
जानने की बात ये भी है कि अमिताभ बच्चन ही थे, जो 13 जनवरी 1968 में राजीव की मंगेतर सोनिया गांधी को पालम एयरपोर्ट पर लेने पहुंचे थे। इसके बाद सोनिया को बच्चन परिवार के घर में ही ठहराया भी गया, जहां तेजी बच्चन ने सोनिया को भारतीय संस्कृति और यहां के रीति रिवाजो के बारे में समझाया और इस तरह से सोनिया को गांधी परिवार की बहु बनाने में बच्चन परिवार की अहम भूमिका रही है।
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.