Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
दुनिया का तीसरा बड़ा फिल्म फेस्टिवल कान्स चल रहा है। दुनिया के सारे बड़े सितारे और डायरेक्टर इसमें अपन फिल्म की प्रदर्शनी करते हैं। इसमें सिर्फ कुछ चुनिंदा फिल्मों की प्रदर्शनी ही होती है। वो लोग काफी खास होते हैं जो इसमें अपनी फिल्म लेकर दिखा देते हैं। बता दें कि इतना भव्य होने की वजह से कान्स में फिल्म ले जाने के और इसी के साथ इस जगह पर जाने के कई नियम और कानून होते हैं।
इस समारोह में महिला आर्टिस्ट को बिना हील्स पहने रेड कार्पेट पर आने की अनुमती नहीं है। इसकी मुखाल्फत करते हुए सारी महिलाएं साल 2015 में एक साथ कान्स पर बिना सैंडल पहने आ गयी थी। इसके बाद बाकी जिसने भी इनको देखा तो अपनी हील्स उतार दी थी। इसके साथ ही इस साल एक और नया कानून कान्स के रेड कार्पेट के लिए बन गया है।
जिसमें कोई भी महिला आर्टिस्ट अपने बच्चों को इस सामारोह में शामिल नहीं कर सकती हैं। इसके पीछे की वजह एक वाक्या है। हाल ही में कान्स में रिलीज होने वाली फिल्म की एक्टर को ही वासप लौटा दिया था। Hurt by paradise नाम की फिल्म बनाने वाली एक्टर, कवी और फिल्ममेकर ग्रेटा बेलामाशिना एक सिंगल मदर हैं। उनके पास एक दूध मुहा बच्चा है। देखने वाली बात तो ये है कि इनकी ये फिल्म ही सिंगल मदर पर बनी है।
अपनी फिल्म के प्रेमियर के लिए ग्रेटा ने सोचा की अपने बच्चे को भी ले जाउं। कान्स के अधिकारियों ने गेट पर ही उनको रोक दिया। इतना ही नहीं ये भी कहा कि इस दूध पीते बच्चे का पास लगेगा जो आपको कुछ 300 Euros (Rs 23342) का पड़ेगा। एक जिम्मेदार महिला होने के नाते उनको ये भी मंजूर था।
कान्स के अधिकरियों की इतने पर भी नहीं बनी। और ग्रेटा को 48 घंटे तक का समय देकर एंट्री देने से मना कर दिया। इसके बाद का खुलासा खुद ग्रेटा ने एक प्रेस रिलीज में किया है।
पढ़िये इनका बयान।
“I’m outraged at the absurdity of this backwards attitude,” Bellamacina continued in her statement. “As if female film-makers needed further obstacles to equality in our industry.”
“Ironically, my film is about a young single mother trying to balance her life as a writer. She is treated quite patronisingly in some scenes in the film, but never as rudely as I was treated as a mother at the film festival today.”
इसके अलावा कान्स को लेकर कई विवाद हुए हैं। एक साल था जब हॉलिवुड की सारी बड़ी एक्ट्रेस ने प्रोटेस्ट किया। जब पता चला कि कान्स में महिला डायरैक्टरों की कितनी कमी है। इसके बाद इस साल 2019 से इसमें महिला और पुरुष निर्देशकों को बराबरी का हिस्सा दिया गया।
Anida Saifi
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से...
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.