Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
वैसे तो बदलते दौर के साथ देश में ऐसे कई रेलवे स्टेशन बन चुके हैं जो आधुनिकतम तकनीकि और सुविधाओं से लैस हैं, लेकिन जो उपलब्धि जयपुर के एक छोटे से रेलवे स्टेशन ने पाई है, वो अभी तक किसी के पास नहीं है। जी हां, हम बात कर रहे हैं गांधी नगर रेलवे स्टेशन की जो कि देश में मुख्य लाइन का पहला ऐसा स्टेशन है जिसका जिम्मा मातृ शक्ति के हाथों में है। अपनी इसी खासियत के चलते ये स्टेशन दुनिया भर में जाना जा रहा है।
असल में, दिल्ली से जयपुर के रास्ते में पड़ने वाला ये छोटा सा स्टेशन, पूरी तरह से महिला कर्मिचारियों द्वारा संचालित है। यहां टिकट क्लेक्टर से लेकर सुरक्षा कर्मी तक 40 पदों का कार्यभार महिलाएं सम्भाल रही हैं। पिछले साल ही ये स्टेशन महिला स्टॉफ के हवाले किया गया था, जिसके बाद ये स्टेशन सुर्खियों में आया था। वहीं अभी यूएन (संयुक्त राष्ट्र) ने महिला सशक्तिकरण के दिशा में इसे बेहतरीन कदम बताते हुए इसकी तारीफ की है।
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">This railway station in <a href="https://twitter.com/hashtag/India?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw">#India</a> 🚉 is run entirely by women! Over 40 women are employed at <a href="https://twitter.com/hashtag/Jaipur?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw">#Jaipur</a>'s <a href="https://twitter.com/hashtag/Gandhinagar?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw">#Gandhinagar</a> station. Since they started work, the station is making more money and providing better service to customers! Watch how! <a href="https://twitter.com/hashtag/ThursdayMotivation?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw">#ThursdayMotivation</a><br><br>Video via <a href="https://twitter.com/wef?ref_src=twsrc%5Etfw">@wef</a> <a href="https://t.co/gC1t5b37nm">pic.twitter.com/gC1t5b37nm</a></p>— United Nations India (@UNinIndia) <a href="https://twitter.com/UNinIndia/status/1128899904707878912?ref_src=twsrc%5Etfw">May 16, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
यूएन ने हाल ही में अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो के साथ इस स्टेशन के बारे में विस्तार से जानकारी दी है और लिखा है कि महिलाओं द्वारा इस स्टेशन का कामकाज संभालने के बाद यहां की सर्विस और इनकम दोनो बेहतर हुई है।
वैसे आपको बता दें कि मुंबई के माटुंगा उपनगरीय स्टेशन भी महिलाओं द्वारा ही संचालित किया जाता है, पर गांधी नगर मुख्य लाइन का पहला स्टेशन है जो कि फीमेल स्टॉफ के अंडर में चल रहा है। यहां से रोजाना तकरीबन 50 से अधिक ट्रेन गुजरती हैं और इस स्टेशन पर हर रोज 7000 से अधिक यात्रियों की आवाजाही से होती है और इसकी सारी जिम्मेदारी यहां कि फीमेल स्टॉफ ही सम्भालती पूरी जिम्मेदारी महिलाएं पूरी तरह महिलाएं ही संभाल रही हैं।
Author: Yashodhara virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.