Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
इंटरनेट के इस युग में बच्चों और युवाओं में ऑनलाइन गेम्स का क्रेज इस कदर बढ़ चुका है कि अब बात जान पर आ पड़ी है। जी हां, कुछ समय पहले तक ‘ब्लू व्हेल’ गेम की लत जहां किशोरों और युवाओं के लिए बड़ा खतरा बनकर सामने आई थी, वहीं अब ‘पबजी गेम’ की लत युवाओं और किशोरों की जान ले रही है। साल की शुरूआत में जहां जम्मू में एक ऐसा मामला सामने आया था जिसमें एक फिटनेस ट्रेनर ने 10 दिन तक लगातार पबजी खेलने के बाद अपना मानसिक संतुलन खो दिया, वहीं अब मध्य प्रदेश में पब्जी खेलते-खेलते 16 साल के लड़के की मौत का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है।
दरअसल, ये ताजा मामला एमपी के नीमच जिले के पटेल प्लाजा इलाके का है, जहां फुरकान कुरैशी नाम के एक 16 साल के बच्चे की पब्जी खेलते हुए कार्डियक अरेस्ट होने से मौत हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ये घटना 28 मई की है, जब फुरकान के घर में शादी का माहौल अचानक मातम में बदल गया। दरअसल, जानकारी के मुताबिक, मृतक छात्र फुरकान अपनी फैमिली के साथ एक शादी में हिस्सा लेने के लिए एमपी के नीमच आया हुआ था। इस रोज जब फुरकान के घर में सभी शादी की तैयारियों में व्यस्त थे तो वहीं फुरकान 3 घंटे से पबजी खेलने में लगा हुआ था।
इसी दौरान फुरकान अचानक से बेहोश हुआ, जिसके बाद घर वालें उसे आनन-फानन में स्थानीय अस्पताल में लेकर पहुंचे, जहां डाक्टर तमाम कोशिशों के बावजूद फुरकान को बचाने में नकाम रहे। कर दिया। अस्पताल में चिकित्सको की टीम से पता चला कि फुरकान की मौत कार्डियक अरेस्ट होने के चलते हुई है।
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">Dr Ashok Jain,Cardiologist: His parents informed that he was playing PUBG game for 2-3 hours, while playing the game a person becomes so excited that it might cause sudden cardiac arrest. I request parents and govt to keep a check on such games. (2/2) <a href="https://t.co/zk8fPWQfzd">https://t.co/zk8fPWQfzd</a></p>— ANI (@ANI) <a href="https://twitter.com/ANI/status/1134073554306080768?ref_src=twsrc%5Etfw">May 30, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
फुरकान के घरवालों का कहना है कि वो हर वक्त पबजी खेलने में लगा रहता था। जब भी उससे ये पबजी खेलने से मना किया जाता तो वो खाना पीना छोड़ कर बैठ जाता था। ऐसे में घरवाले भी कुछ नहीं कर सकते थे। वैसे फुरकान की मौत बाकि बच्चों और उनके अभिभावको के लिए बड़ी सबक है, लोग अपने बच्चों को इसकी लत लगने से रोकें, वरना आगे चलकर उनके साथ भी ऐसा अनहोनी हो सकती है।
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.