Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
जी हां, हर बार की तरह इस बार भी सलमान खान ईद के खास मौके पर अपने फैंस को खास सौगात दे रहे हैं, जैसा कि उनकी मोस्ट अवटेड फिल्म ‘भारत’ 5 जून को रिलीज हो रही है। वैसे तो ईद के मौके पर रिलीज हुई सलमान की हर फिल्म बिग हिट साबित होती रही है, पर इस बार मामला 50-50 का हो चला है, क्योंकि बीते दो सालों से ईद के मौके पर रिलीज हुई सलमान की फिल्में दर्शको का कुछ खास रास नहीं आईं, ऐसे में इस बार सबकी निगाहें सलमान के भारत पर टिकी है। वैसे ‘भारत’ की सफलता सिर्फ सलमान के लिए ही नहीं बल्कि इंडस्ट्री के दो बाकी खान स्टार्स के लिए भी काफी मायने रखती हैं। जी हां, यहां हम बात शाहरूख खान और आमिर खान की कर रहे हैं। चलिए जरा इस पर विस्तार से बात करते हैं कि कैसे ‘भारत’ की सफलता पर सिर्फ सलमान ही नहीं आमिर और शाहरूख के करियर की भी दिशा तय करने वाली है।
टूट चुका है तीनो खान के स्टारडम का तिलिस्म
दरअसल कुछ समय पहले तक जहां ये कहा जाता रहा है कि बॉलीवुड इंडस्ट्री तीनो खान यानी कि शाहरूख, आमिर और सलमान खान के दम पर ही चल रही है, पर वहीं बीते साल के बॉक्स ऑफिस रिकार्ड ने तीनो खान के स्टारडम का ये तिलस्म भी तोड़ दिया। जैसा कि बीते साल किसी भी खान का जादू नहीं चला। शाहरूख की जीरो और सलमान की रेस 3 का तो बुरा हाल हुआ ही, साथ ही बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहलाने वाले आमिर खान को भी ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ के साथ बड़ा झटका खाने को मिला। इस तरह से साल 2018 के साथ ही ऐसा लगा कि तीनो खान की स्टारडम का दौर भी खत्म हो गया।
रिएलिस्टिक फिल्मों के दौर में पिछड़ चुकी हैं खान की तिकडी
ये समझना जरूरी है कि आखिर अब तीनो खान के स्टारडम का जादू क्यों काम फीका पड़ रहा है। दरअसल, एक समय था जब फिल्मों में कल्पना से परें की भव्यता दिखाई जाती थी... विदेशी लोकेशन, आलिशान बगंले और फैशनेबल कास्ट्यूमस से सजी फिल्में देख हम सभी बड़े हुए हैं, जहां हीरो-हीरोइन वो सब कुछ करने को समर्थ जो कि एक आदमी सपने में भी नहीं सोच पाता है। फिल्मों ने बियॉन्ड दी इमैजिनेशन ऐसे खूबसूरत संसार को रच आम आदमी की दुनिया में जगह पाई। सलमान, आमिर और शाहरुख खान इसी दौर के हीरो हैं जिन्होने पर्दे पर रोमांस का समां बाँध लोगों के दिलों में जगह पाई। पर अब समय बदल चुका है... आज कॉमर्शियल नहीं रिएलिस्टिक फिल्मों का दौर है, जहां दर्शकों को रिएलिस्टिक कहानियां पसंद आती है। जबकि अभी भी सलमान, आमिर और शाहरुख खान अपने सुपरस्टार के ईमेज में बंधे हुए हैं। या तो वो दर्शको का मिजाज समझ नहीं पा रहे या फिर इसे समझने की कोशिश ही नहीं करना चाहते।
स्टारडम नहीं अच्छी कहानी के दम पर चल रही हैं फिल्में
असल में पहले जहां फिल्में सितारों के नाम से चलती थीं, वहीं अब स्टार वैल्यू नहीं बल्कि कलाकारों की एक्टिंग और अच्छी कहानियों की डिमांड है। बात चाहें पिछले साल आई फिल्म बधाई हो, स्त्री, अंधाधुन की कर लें या फिर इस साल आई उरी और गली ब्वॉय की। सिनेमा घरों तक दर्शको को ला पाने में वहीं फिल्में सफल रहीं जिनकी कहानी में दम और नयापन था। वहीं सलमान खान की रेस 3, आमिर की ठग्स ऑफ हिंदोस्तान और शाहरूख की जीरो बॉक्स ऑफिस पर अच्छे कंटेन्ट के अभाव में मार खा गईं।
नए प्रोजेक्ट में हाथ डालने से भी डर रहे हैं शाहरूख और आमिर
वैसे बीते साल मिली करारी शिकस्त के बाद सलमान जहां फिल्म भारत और दबंग जैसे प्रोजेक्ट बिजी हो गए, पर वहीं आमिर खान और शाहरूख खान अभी अपने अगले प्रोजेक्ट के लिए अटके हुए। एक तरफ शाहरूख ने जहां राकेश शर्मा की बायोपिक के साथ ही अपनी सुपरहिट सीरिज डॉन के अगले सीक्वल को टाल दिया तो वहीं आमिर खान भी काफी सोच समझकर अपना अगला कदम बढ़ा रहे हैं। यहां तक कि वो साल 2008 की अपनी ब्लाक बस्टर फिल्म गजनी के सीक्वल पर काम करने से भी डर रहे हैं। ऐसे में लगता है कि शाहरूख और आमिर दोनो सलमान की बहुचर्चित फिल्म भारत के बाक्स ऑफिस नतीजे का इंतजार कर रहे हैं, जैसा कि इस साल तीनो खान में सलमान सबसे पहले फिल्म भारत के साथ दर्शको के बीच हाजिर होने जा रहे हैं। जाहिर है कि सलमान के ‘भारत’ पर आमिर और शाहरूख के करियर का दाव लगा है।
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.