Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
साहित्य, कला और सिनेमा जगत को भारी नुकसान हो गया है। देश के जाने-माने नाटककार, फिल्म निर्देशक, फिल्म अभिनेता और साहित्यकार गिरीश कर्नाड का सोमवार को कर्नाटक के बंगलुरु शहर में निधन हो गया है। वो 81 वर्ष के थे। आपको बता दें कि 19 मई, 1938 को मुम्बई में जन्में गिरीश कर्नाड को रंगमंच का नवदृष्टा माना जाता है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि उनकी कलम से निकले नाटकों ने रंगमंच को एक नया नज़रिया दिया है और इस दिशा में ऐसा करते जाने से उन्होंने रंगमंच और सिनेमा में एक नया अध्याय जोड़ा है।
इनका नाटक ययाति तो सबसे अधिक चर्चा में रहने वाला नाटक है, जिसे देशभर के अनेक निर्देशकों ने मंचित किया है। इसके अलावा गिरीश कर्नाड के तुग़लक, नागमंडल और हयवदन जैसे नाटकों ने भी समाज को नयी दृष्टि देने का काम किया है। रंगमंच के अलावा सिनेमा के क्षेत्र में भी गिरीश कर्नाड का ज़बरदस्त दखल रहा है। इनकी लिखी फ़िल्म गोधुलि को साल 1980 में सर्वश्रेष्ठ पटकथा के लिए फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार मिल चुका है।
यह भी जानने लायक है कि गिरीश कर्नाड को उनके कला और साहित्य क्षेत्र में दिया गये अप्रतिम योगदानों के लिए क्रमशः साल 1972 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, 1974 में पद्मश्री, 1992 में पद्मभूषण तथा इसी साल कन्नड़ साहित्य अकादमी पुरस्कार, 1994 में साहित्य अकागमी पुरस्कार तथा 1998 में ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया गया।
आपको बता दें कि एक कोंकणी भाषी परिवार में जन्में गिरीश कार्नाड ने हिन्दी और कन्नड़ भाषा में समान रूप से काम किया और देश-दुनिया में नाम कमाया। इन्होंने साल 1958 में धारवाड़ स्थित कर्नाटक विश्वविद्यालय से स्नातक उपाधि ली। इसके पश्चात वे एक रोड्स स्कॉलर के रूप में ब्रिटेन चले गए जहां उन्होंने ऑक्सफ़ोर्ड के लिंकॉन तथा मॅगडेलन महाविद्यालयों से दर्शनशास्त्र, राजनीतिशास्त्र तथा अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की। वे शिकागो विश्वविद्यालय के फुलब्राइट महाविद्यालय में विज़िटिंग प्रोफ़ेसर भी रहे। गिरीश कर्नाड का इस दुनिया को छोड़कर जाना भारतीय साहित्य और सिनेमा के लिए एक बहुत बड़ी हानि है।
देखें गिरीश कर्नाड के निधन पर शख़्सियतों की प्रतिक्रियाएँ:
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">Girish Karnad will be remembered for his versatile acting across all mediums. He also spoke passionately on causes dear to him. His works will continue being popular in the years to come. Saddened by his demise. May his soul rest in peace.</p>— Narendra Modi (@narendramodi) <a href="https://twitter.com/narendramodi/status/1137948705112428544?ref_src=twsrc%5Etfw">June 10, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">Saddened by the passing away of Indian film artist Girish Karnard. My condolences to his family members and fans.</p>— Prakash Javadekar (@PrakashJavdekar) <a href="https://twitter.com/PrakashJavdekar/status/1137946392523988993?ref_src=twsrc%5Etfw">June 10, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">Litterateur par-excellence, actor, director, playwright and activist- the passing away of Girish Karnad shall leave an irreplaceable void in the Indian creative arena. <br><br>My thoughts and prayers are with his family, friends and fans.<br><br>May his soul rest in peace. <a href="https://t.co/sbXi0sCH4A">pic.twitter.com/sbXi0sCH4A</a></p>— Randeep Singh Surjewala (@rssurjewala) <a href="https://twitter.com/rssurjewala/status/1137936211140460546?ref_src=twsrc%5Etfw">June 10, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">Sad news coming in the morning about the passing away of veteran noted actor and playwright Girish Karnad. Girish ji's views and artistic contribution will be missed by the country.</p>— Arvind Kejriwal (@ArvindKejriwal) <a href="https://twitter.com/ArvindKejriwal/status/1137939640269254657?ref_src=twsrc%5Etfw">June 10, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">Mr.Girish Karnad, His scripts both awe and inspire me. He has left behind many inspired fans who are writers. Their works perhaps will make his loss partly bearable.</p>— Kamal Haasan (@ikamalhaasan) <a href="https://twitter.com/ikamalhaasan/status/1137943540485410816?ref_src=twsrc%5Etfw">June 10, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
Author: Amit Rajpoot
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.