Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
हर रोज अपनी कार और टू-व्हीलर से सफर करने वाले लोग पेट्रोल और डीजल की कीमत बखूबी जानते हैं। इन लोगों को पता है कि इसके दाम बढ़ने से उनकी जेब पर कितना भारी असर पड़ता है। ऐसे में हर कोई कोशिश कर रहा है कि उसे कम से कम ही फ्यूल का इस्तेमाल करना पड़े। इस बात में कोई दोराहें नहीं है कि पिछले कुछ समय में पेट्रोल और डीजल की कीमत आसमान को छूने लगी है। इससे बचने के लिए अब ज्यादातर लोगों ने तो सीएनजी गैस का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।
इन परेशानियों को देखते हुए हम अक्सर कोई न कोई दूसरा विकल्प तलाशने में लग जाते हैं। लेकिन हाल ही में फ्यूल को लेकर एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, हैदराबाद के एक 45 वर्षीय मैकेनिकल इंजीनियर सतीश कुमार पुराने और खराब प्लास्टिक से फ्यूल तैयार कर रहे हैं। आप इसे जानकर हैरान रह गए हो होंगे, लेकिन यह सच हैं। इन्होंने प्लास्टिक को रिसायकल कर फ्यूल में तबदील कर दिया है। इसे लेकर उनका कहना है कि इस 3 प्रक्रिया से होकर गुजरने वाले इस प्रोसेस को प्लास्टिक पायरोलिसिस कहा जाता है।
गौरतलब है कि, उन्होंने लघु, सुक्ष्म और मध्यम उद्यम मंत्रालय के साथ पंजीकृत एक कंपनी हाइड्रोक्सी प्राइवेट लिमिटेड की भी शुरुआत की है। प्लास्टिक को पिघाल कर फ्यूल बनाने की इस प्रक्रिया को लेकर सतीश का कहना है कि, उन्हें अपनी इस प्रक्रिया से प्लास्टिक को डीजल, विमान ईंधन और पेट्रोल में बदलने के लिए रिसायकल करने में मदद मिलती है। दिलचस्प बात तो यह है कि करीब 500 किलोग्राम बेकार प्लास्टिक से 400 लीटर तक का ईंधन उत्पादन किया जा सकता है।
उनका कहना है कि यह एक ऐसी प्रक्रिया में जिसमें पानी की कोई जरूरत ही नहीं पड़ती, इसलिए पानी का बेवजह नुकसान होने से बच जाता है। इसके अलावा इसे रिसायकल करने में की प्रक्रिया में कोई गैस भी बाहर जाती, जिससे वायु प्रदूषण भी नहीं होता। क्योंकि इस पूरे प्रोसेस को वैक्यूम में किया जाता है। बता दें कि सतीश कुमार अब तक 50 टन प्लास्टिक को पेट्रोल में तबदील कर चुके हैं। उन्होंने इसे 2016 में बनाना शुरू किया था। इस प्रक्रिया की एक और खास बात यह है कि रिसायकलिंग के लिए सिर्फ उसी प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जा सकता है जिसे दोबारा कभी उपयोग में ही नहीं लाया जा सकता।
'ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.