Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
भारत में समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता मिलने के बाद अब धीरे-धीरे लोग इसको लेकर खुलते जा रहे हैं। साल 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिकता को अपराध मानने वाली धारा 377 को रद्द कर दिया था। इसके बाद भारत में लम्बे वक्त से चली आ रही मानसिकता बदलती नजर आ रही है। इसका ताजा उदाहरण उत्तर प्रदेश से सामने आया है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के वाराणसी में 2 लड़कियों ने एक होने न केवल फैसला लिया बल्कि इन दोनों ने शादी करके एक-दूजे के साथ जीने-मरने की कसमे भी खा ली।
सिर पर लाल चुनरी ओढ़े और हाथों में चूड़ियां पहने ये वही दो लड़कियां है जिन्होंने उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में पहली लेस्बियन शादी करके एक क्रांतिकारी कदम उठाया है।
<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="hi" dir="ltr">वाराणसी में एक अनोखा मामला सामने आया, जब दो लड़कियों ने मंदिर में आकर पंडित से कहा कि हम शादी करना चाहते हैं. पंडित ने जब यह बात पूछा कि आपस में तुम क्यों शादी करना चाहती हो तो उनका कहना था कि लड़कों पर अब भरोसा करना बेहद ही मुश्किल है, जिसके लिए हम आपस में शादी करना चाहते हैं <a href="https://t.co/Da45XCfT9F">pic.twitter.com/Da45XCfT9F</a></p>— Ajay Singh (@AjayNDTV) <a href="https://twitter.com/AjayNDTV/status/1146749924979044352?ref_src=twsrc%5Etfw">July 4, 2019</a></blockquote><script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>
ये लड़कियां उत्तर प्रदेश के रोहानिया की रहने वाली हैं। हालांकि, शादी के बाद एक कानपुर चली गई है तो दूसरी वाराणसी। अपनी शादी की खबरों की वजह से ये दोनों इन दिनों यूपी में चर्चा का विषय बनी हुई हैं।
जींस-टीशर्ट पहने दो लड़कियां रोहनिया के शिव मंदिर पहुंची, जहां पहुंचकर दोनों ने पूजा अर्चना की। इसी दौरान इन दोनों ने पंडित से शादी करवाने की जिद की।
हालांकि, पुरानी मानसिकता के साथ जी रहे पंडित जी ने उन दोनों की शादी करवाने से मना कर दिया। लेकिन दोनो जिद पर अड़ी रहीं। अंत में पंडित जी मान गये और उन्होंने मजबूरन दोनों की शादी करवा दी।
पंडित के अनुसार दोनों लड़कियों ने बताया कि वह रोहनिया में रहती हैं और एक-दूसरे से प्यार करती हैं।
हालांकि, जब बात खबरों में आ गई तो हो-हल्ला मचा और लोगों ने पंडित को भी भला-बुरा कहना शुरु कर दिया।
भारत में यूं तो धारा 377 को जुर्म के दायरे से बाहर कर दिया हो, लेकिन आज भी हमारे समाज में कई ऐसे लोग हैं जो न ही समलैंगिकता की हकीकत को मानते हैं और न ही उन्हें स्वीकार करते।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.