Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
इन दिनों बाजार में कई ऐसी कंपनियां आ गई हैं, जो ऐप के जरिए लोगों को खाने की डिलीवरी दे रही हैं। लोगों के बीच इन्हें इस्तेमाल भी किया जा रहा है। बहुत से लोग ऐसे हैं जो अपने घरों से दूर पढ़ाई और नौकरी के दूसरे शहरों में रह रहे हैं, उनके लिए यह कंपनियां काफी मददगार साबित हो रही है। इनकी वजह से अब उन्हें खाने की तलाश में नहीं भटकना पड़ता। बस एक ऐप की मदद से खाना उनके पास बैठे-बिठाए ही पहुंच जाता है। वहीं कभी अगर घर पर बनाने का मन न हो तो बाहर से मंगवा सकते हैं।
आज हर दूसरा शख्स इस तरह की ऐप्स का इस्तेमाल कर रहा है। हालांकि कई बार लोगों तक खाना पहुंचने के बाद उनसे कई शिकायत भी कंपनी को सुननी पड़ जाती है, इसमें खाने के टेस्ट से लेरक अन्य कई तरह की चीजें शामिल हैं। हाल ही में जानी मानी फूड डिलीवरी ऐप जोमैटो को लेकर भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है। कंपनी को इस बार अपनी गलती बहुत भारी पड़ गई है। क्योंकि मामला उपभोक्ता फोरम तक जा चुका है। इसके लिए जोमैटो को मोटा जुर्माना देना पड़ा है।
दरअसल, पुणे के रहने वाले एक वकील शानमुख देशमुख ने जोमैटो से पनीर बटर मसाला ऑर्डर किया था। लेकिन उनके पास गलती से बटर चिकन डिलीवर कर दिया गया। उन्हें ग्रेवी देखकर पता नहीं चला कि यह पनीर नहीं चिकन है। लेकिन जैसे ही उन्होंने इसे टेस्ट किया तो शानमुख को पता चला कि उन्हें वेज की जगह नॉन वेज खाना भेज दिया गया है। इसके बाद उन्होंने जोमैटो में इसकी शिकायत की और साथ ही अपने पैसे भी वापस मांगे। लेकिन जोमैटो का कहना है कि यह गलती होटल से हुई है, हमने तो सिर्फ खाना डिलीवरी किया है।
हालांकि वह दूसरी ओर फोरम ने होटल के साथ-साथ जोमैटो की भी गलती ठहराई। इसके बाद होटल ने अपनी स्वीकार कर ली। खराब सर्विस के लिए जोमैटो को जुर्माने के तौर शानमुख को 50 हजार रुपए और मानसिक परेशानी के लिए 5 हजार रुपए देने का आदेश मिला। बता दें कि, इसके लिए जोमैटो को 45 दिन के अंदर जुर्माना देने का वक्त मिला है। पुणे की कंज्यूमर फोरम की ओर से जोमैट पर 55 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।
'ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.