Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
प्राण का पूरा नाम प्राण कृष्ण सिकंद है। ये भारतीय सिनेमा के एक दिग्गज अभिनेता थे, जो अपने मज़बूत खलनायक चरित्र के अभिनय लिए हमेशा याद किये जाएँगे। आपको बता दें कि आज ही के दिन 12 जुलाई, 2013 को ये महान अभिनेता और अपनी बेहतरीन शख़्सियत के साथ हम सबको अलविदा कहकर चला गया था, जिनकी आज छठी पुण्यतिथि मनाई जा रही है। ग़ौरतलब है कि प्राण ने अपने फ़िल्मी करियर में कई पुरस्कार और सम्मान प्राप्त किए थे। उन्होंने साल 1967, 1969 और 1972 में फ़िल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का पुरस्कार जीता और इसके बाद साल 1997 में फ़िल्मफेयर लाइफ़टाइम अचीवमेंट पुरस्कार से भी इन्हें सम्मानित किया गया था।
प्राण की फ़िल्मों में एंट्री की कहानी बड़ी ज़बरदस्त है। जी हाँ, दरअसल लाहौर की एक दुकान पर इनकी लेखक वली मोहम्मद ‘वली’ के साथ इनकी एक आकस्मिक मुलाक़ात हो गयी थी। इस दौरान दोनों के बीच काफ़ी गहरी दोस्ती हो गयी है. लिहाजा वली के वास्ते ही प्राण को साल 1940 में निर्देशक दलसुख एम. पंचोली की पंजाबी फ़िल्म ‘यमला जट’ में पहली बार फ़िल्मों में काम करने का मौक़ा मिला था।
अपने लंबे और भरे-पूरे फ़िल्मी करियर में प्राण ने तक़रीबन 350 से अधिक फ़िल्मों में काम किया। इनमें प्राण की एक से बढ़कर बेतरीन फ़िल्में शामिल हैं, जिनके चलते इन्हें दिग्गज कलाकार होने का तमगा दिया गया। इनमे प्राण की साल 1942 में आयी फ़िल्म खंडन, 1954 की पिलपिली साहब, और ऐसे ही साल 1956 में आयी फ़िल्म हलाकू आदि शामिल हैं, जिनमें प्राण ने ज़बरदस्त काम किया था।
इसके बाद भी प्राण के ज़बरदस्त अभिनय का क्रम रुका नहीं। साल 1940 से लेकर 1990 तक प्राण ने एक से बढ़कर एक ताबड़तोड़ और क्रमबद्ध बेहतरीन फ़िल्में दीं। इनमें मधुमती (1958), जिस देश में गंगा बहती है (1960), उपकार (1967), शहीद (1965), पूरब और पाश्चिम (1970), राम और श्याम (1967), आंसू बन गए फूल (1969) जैसी फ़िल्मों का नाम न लेना बेमानी होगी।
Author: Amit Rajpoot
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop App, वो भी फ़्री में और कमाएँ ढेरों कैश आसानी से!
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.