Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
कई बार जीवन में हम ऐसी ग़लतियाँ कर जाते हैं, जिनके पीछे हमारी पूरी की पूरी ज़िन्दगी एक पछतावा बनकर रह जाती है और हम फिर धीरे-धीरे जीवन के टूटने लग जाते हैं। त्रिपुरा की राजधानी अगरतला के रहने वाले काजल डे ने भई अपनी ज़िनदगी में एक ऐसी ही ग़लती कर डाली थी, जिसके बाद किसी के भी ऊपर पछतावे का पूरा पहाड़ आकर गिर पड़े। लेकिन काजल डे को अपनी ग़लती का एहसास इस क़दर हुआ कि फिर उन्होंने उससे टूटने की एक और ग़लती को नहीं दोहराया बल्कि उन्होंने ख़ुद को न सिर्फ़ संभाला बल्कि अपनी मेहनत, लगन और आत्मविश्वास के साथ ऐसा कारनामा कर दिखाया कि आज वह एक जीती-जीगती मिसाल हैं और दूसरों के लिए प्रेरणा के सागर हैं।
जी हाँ, आपको बता दें कि काजल डे शुरुआत से ही एक अच्छे फ़ुटबॉल खिलाड़ी और टेबल टेनिस के स्टेट लेवल प्लेयर रहे हैं। लेकिन उसी जवानी में जब जवानी का जुनून इनके सिर चढ़कर बोल रहा था तब इन्होंने एक राजनीतिक पार्टी के लिए भी काम किया। इनका रसूख बढ़ रहा था और लोग इनसे डरते थे। एक दिन काजल डे बम बनाने लगे। तभी अचानक से वह बम फट गया और बम से काजल के हाथों के चीथड़े उड़ गये और इससे उनके दोनों हाथ अब ग़ायब हैं।
काजल डे को इस बाद का जिंदगीभर अफसोस रहेगा कि जिन लोगों के लिए ये जान पर खेल जाया करते थे, उन्होंने इनकी कोई मदद नहीं की। बहरहाल, तमाम विचारों के समन्तर में गोता लगाने के बाद काजल ने अब सकारात्मक रास्ते को अख़ितायार किया और इन्होंने अगरतला में अपना टेबल टेनिस सेंटर बनाया, जिसे आगे चलकर इन्होंने मल्टीनेट सेंटर बनाया। पूरे त्रिपुरा में ऐसा सेंटर किसी के पास नहीं है। मल्टीनेट में काजल डे खिलाड़ियों को तीन तरह की गेंदों फास्ट, मीडियम और स्लो गेंदों पर अभ्यास कराते हैं।
काजल डे की कड़ी मेहनत का ही परिणाम है कि इनकी शिष्याओं ने राष्ट्रीय टेबल टेनिस में त्रिपुरा को चार पदक दिलवाए हैं। मौमिता शाह, औरित्रा पाटारी, कल्याणी डे (काजल की बेटी बेटी) आज देश की रैंकिंग टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं। लड़कों में अर्धजीत चौधरी, अपूर्व दास, जयंत डे, अर्जित डे ने भी राष्ट्रीय स्पर्धा में त्रिपुरा का नाम चमकाया है।
Author: Amit Rajpoot
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.